हठ योग का उद्देश्य क्या है? | Hath Yog ka Uddeshya Kya Hai

हठयोग का प्रमुख उद्देश्य  ईडा और पिंगला  नाड़ियों की प्राण की प्रवाह में संतुलन स्थापित करना है । हठ शब्द दो बीज मंत्रों हम सौर ऊर्जा का प्रतीक और ठं (चंद्र शक्ति का प्रतीक) से मिलकर बनते हैं । संतुलन स्थापित करने के लिए इन दोनों शक्तियों में सर्वप्रथम सत्कर्म ओके माध्यम से शरीर का … Read more

शिक्षक दिवस क्यों और कैसे मनाया जाता है इसका महत्व क्या है?

शिक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है? शिक्षक दिवस 5 सितंबर को मनाया जाता है । इस दिन स्कूलों में कई कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं और शिक्षक दिवस को मनाया जाता है। इस दिन डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिन आता था। वे भारत के पहले उपराष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति थे जो इन पदों पर आसीन होने … Read more

गौरा देवी कन्या धन योजना क्या है ? | Gaura Devi Kanya Dhan Yojana Kya Hai

गौरा देवी कन्या धन योजना : – योजना का नाम- गौरा देवी कन्या धन योजनायोजना का उद्घाटन -उत्तराखंड सरकार द्वारायोजना का आरंभ- 1 जुलाई 2017योजना का विभाग- महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास कल्याण योजना,। उत्तराखंड सरकार द्वारा बालिकाओं की सुरक्षा तथा विकास और भविष्य के लिए कई सारी योजनाएं संचालित की जाती हैं। ऐसी ही … Read more

200 Hour Yoga Teacher Training Kya Hai? | Yoga Teacher Training Hindi

योगा टीचर ट्रेनिंग : – योगा टीचर ट्रेनिंग एक योगा सर्टिफिकेट कोर्स है। जिसके माध्यम से योग में जाने के इच्छुक लोग योग सीखते है और शिक्षक बनते हैं। यह कोर्स 200 घण्टे और उसके बाद 300 घण्टे का होता है । इस कोर्स को करने के बाद व्यक्ति योग पढ़ा सकता है । Yoga … Read more

गणेश चतुर्थी 2022 में कब है, गणेश चतुर्थी क्यों और कैसे मनाया जाता है, इसका महत्व ?

गणेश चतुर्थी का अर्थ:- गणेश चतुर्थी हिन्दुओं के प्रमुख त्योहारों में से एक है प्रमुख । गणेश चतुर्थी भारत में कई जगहों पर त्योहार मनाया जाता है। लेकिन कुछ जगहो पर इसे बढे ही धूम धाम के साथ घर घर मनाया जाता है जिसमे प्रमुख रूप से मुंबई महाराष्ट्र है । महाराष्ट्र के अलावा गणेश … Read more

ध्यान और धारणा में अंतर | Dhaarana Aur Dhyaan Mein Antar

ध्यान और धारणा में अंतर ध्यान की परिभाषा – “तत्र प्रत्ययैकतानता ध्यानम” जहां चित्त को लगाया जाए, उसी में वृत्ति का एक तार चलना ध्यान कहलाता है। जिस ध्येय वस्तु में चित्त को लगाया जाए उसी में वृत्ति का एकतार चलना एवं चित्त का एकाग्र हो जाना ध्यान है। अर्थात एक ही तरह की वृत्ति … Read more

हठयोग

हठयोग की परिभाषा – ह और ठ से मिलकर हठ शब्द की उत्पत्ति हुई है यह सूर्य और चंद्र नाडियों के नाम से भी जाने जाते हैं ह का अर्थ है सूर्य नाड़ी व ठ अर्थ चंद्र नाड़ी जिन्हें टावर पिंगला भी कहते हैं। हकार सूर्य स्वर और ठकान से चंद्र स्वर चलते हैं सूर्य … Read more

बंध और मुद्रा

बंध – बंध का अर्थ होता है बांधना, रोकना या संकुचित करना । इस क्रिया के द्वारा किसी अंग विशेष को बांधकर आने जाने वाली संवेदनाओ को रोक कर लक्ष्य विशेष की ओर भेजना बंध है। मानसिक एवं आध्यात्मिक लाभ प्राप्त करने के लिए बंधो का विशेष महत्व है। स्वात्माराम जी ने हठ प्रदीपिका में … Read more

बालों को झड़ने से रोके इस आयुर्वेदिक सस्ते और प्राकृतिक तरीके का प्रयोग करके

बालों को झड़ने से रोके सस्ते और प्राकृतिक तरीके से:- क्या आप भी झड़ते हुए बालों से परेशान हैं क्या आपके बाल भी हर दिन झड़ते हैं और आप तरह-तरह के शेम्पू का प्रयोग कर चुके हैं और अब आपकी समझ में नहीं आ रहा है कि क्या करें ? दरअसल जिन शैंपू का इस्तेमाल … Read more

शिव संहिता

शिव संहिता शिव तत्व को प्राप्त करने वाली संहिता है। शिव संहिता में 5 अध्याय का वर्णन किया गया है। प्रथम अध्याय = लय प्रकरण द्वितीय अध्याय= तत्वज्ञान तृतीय अध्याय= योगाभ्यास नाड़ी शोधन चतुर्थ अध्याय= मुद्राएं पंचम अध्याय = चतुर्थ विद्य योग शिव संहिता में शतचक्र की अवधारणा है। शिव संहिता में 4 आसन बताए … Read more