हरियाली तीज का त्यौहार क्यों है महिलाओं के लिए विशेष?

हरियाली तीज का पर्व श्रावण मास के शुक्ल पक्ष में मनाया जाता है । इस वर्ष यह त्यौहार 31 जुलाई 2022 को मनाया जायेगा । यह पर्व महिलाओं का अत्यधिक प्रिय होता है । इस दिन महिलाएं हरे रंग के वस्त्र व संपूर्ण शृंगार  करती हैं। विवाहित स्त्रियों के लिए यह पर्व बहुत महत्व रखता है और कुँवारी लड़कियाँ भी इस वर्त को कर सकती है ।

इस पर्व के दिन महिलाएं अपनी सखियों के साथ झूला झूलती है तथा नृत्य करती है। हरियाली तीज को सुहाग की लंबी उम्र के लिए रखा जाता है। इस दिन महिलाएं हाथों में मेहंदी भी लगाती हैं तथा एक दुल्हन के समान तैयार होती है। यह पर्व माता पार्वती के समय से चले आ रहा है।

यह पर्व माता पार्वती व भगवान शिव के पुनर्मिलन के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। इस पर्व के दिन महिलाएं अपने परिवार बड़े बूढ़ों से आशीर्वाद लेती हैं। और भगवान शंकर व माता पार्वती की पूजा अपने सुहाग की लम्बी उम्र के लिए करती है ।

इतिहास


कहा जाता है कि माता पार्वती नें कई सालों तक कठिन तपस्या करती रही । भगवान शिव को अपने पति के रूप में पाने के लिए माता पार्वती ने घोर तपस्या के बाद भगवान शिव को पति के रूप में प्राप्त किया था तभी से हरियाली तीज को मनाया जाता है।

Leave a Comment